Shared Hosting के फायदे और नुकसान : नए लोगों के लिए

भारत में Shared Hosting, सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला web hosting types में से एक है। अपनी जरूरत के हिसाब से web hosting select करना बढ़िया रहता है, लेकिन किसी भी कंपनी के वेब होस्टिंग को सेलेक्ट करने से पहले अपको उस web server के सभी positive और negative पहलुओ को देख लेना चाहिए।

बिना किसी संदेह के shared hosting popular के साथ साथ नए ब्लॉगर के लिए अच्छा ऑप्शन भी होता है।

आपको बता दू shared hosting कब जितने फायदे है उतनी ही नुकसान भी है और आज में आपके साथ shared hosting के advantage और disadvantages के बारे में चर्चा करने वाला हूँ।

जब कभी आप किसी ब्लॉग या website कब लिए shared hosting ख़रीदेंगे तो ये बाते आपके दिमाग में जरूर रहेगी इसलिए इन बातों को ध्यान से पढियेगा।

Shared Hosting के फायदे और नुकसान : नए लोगों के लिए - Wordpress

SHARED HOSTING के फायदे

चलिए पहले आपको शेयर्ड होस्टिंग के फायदे बता देते है।

1: आसान और FAST SETUP:

Shared web hosting को setup करना बहुत ही आसान होता है, जबकि इसके विपरीत dedicated hosting को setup में समय तो लगता ही है साथ ही साथ technical knowledge की भी जरूरत पड़ती है। शेयर्ड होस्टिंग खरीदने के कुछ मिनट में ही इसको fully functional किया जा सकता है।

Share Hosting में WordPress कैसे इंस्टॉल करे उसकी Step by Step जानकारी यह मिल जाएगी।

2: कम खर्चा: beginners के लिए अच्छा ऑप्शन

जैसा की नाम से ही प्रतीत होता है कि शेयर्ड होस्टिंग में आपकी website की hosting बहुत सारे अन्य ब्लॉग या website के साथ शेयर की जाती है, इसलिए दूसरे hosting ऑप्शन के मुकाबले शेयर्ड होस्टिंग काफी सस्ता होता है।

Price के अलावा आपको इसकी maintenance के लिए अलग से कुछ नही देना पड़ता है सबकुछ purchase price में ही include रहता है। तो अपको maintenance के लिए tension लेने की जरूरत नही है और इसके लिए आपको अलग से कुछ pay नही करना पड़ता है।

3: छोटी WEBSITES के लिए BEST OPTION है:

आपकी webhosting दूसरे websites के साथ share तो होती ही है साथ साथ आपके server के resources भी शेयर होते है। छोटी वेबसाइट्स चलाने के लिए ज्यादा resources की जरूरत नही पड़ती इसलिए shared hosting एक अच्छा ऑप्शन रहता है।

ये कुछ बढ़िया Share Hosting: Hostgator, BlueHost, A2 Hosting, NameCheap

SHARED WEB HOSTING के नुकसान

चलिए अब आपको shared hosting के नुकसान बताते है।

1: बड़ी WEBSITES/Blogs के लिए ठीक नहीं है

Shared web hosting limited resources provide करती है इसलिए जिन websites या ब्लॉग्स को बहुत ज्यादा resources की जरूरग पड़ती है उनके लिए ये एक अच्छा ऑप्शन नही है और यह काफी problems पैदा कर सकता है।

अगर उस server की दक भी website crash होती है तो उसका परिणाम दूसरी websites को भी भुगतना पड़ता है। यदि आपकी वेबसाइट बड़ी है जिसे ज्यादा resources की जरूरत पड़ती है तो आप VPS या dedicated web hosting को ही खरीदे।

या फिर Cloud Hosting जेसे Digital Ocean पर होस्ट कर सकते है।। HindiMeHelp भी Cloudways की मदद से Digital Ocean पर hosted है।

2: IP address DYNAMIC होता है

Normally सभी web hosting companies आपको static IP address provide नही कराती है, तो ऐसे में प्रॉब्लम तब हो सकती है जब आपको एक static IP की जरूरत हो। ऐसा अक्सर eCommerce sites के साथ होता है। आप web होस्टिंग कंपनी से static IP तो ले सकते है लेकिन इसके लिये companies आपसे extra पैसे चार्ज करती है।

3: SECURITY

Security एक और factor है, जोकि shared hosting के नुकसानों में add किया जा सकता है, जैसा कि shared hosting में एक ही server पर बहुत सारी websites होती हैं, server के hack हो जाने के chances भी उतने ही बढ़ जाते हैं. तो ऐसे में, हज़ारों websites की maintenance और security risk पर होती है।

मुझे आशा है कि इस आर्टिकल को पढ़कर, आप ये decide कर पाएंगे कि आपकी वेबसाइट के लिए, shared hosting एक सही choice है या फिर नहीं।

Comments section में shared hosting के बारे में अपने views हमारे साथ शेयर करना मत भूलियेगा!

ऐसे ही और informational Posts पढ़ते रहने के लिए और नए blog posts के बारे में Notifications प्राप्त करने के लिए हमारे blog Subscribe कीजिये।

इस blog पोस्ट से सम्बंधित किसी भी तरह का question पूछने के लिए नीचे comment कीजिये।

अगर आपको जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने मित्रो से साथ शेयर कीजिए।

I am Ramesh Rawat. A part-time Blogger, Affiliate Marketer.

11 thoughts on “Shared Hosting के फायदे और नुकसान : नए लोगों के लिए”

  1. बहुत बहुत धन्यवाद् आपका बहुत ही उम्दा post है ,मैं भी एक बार shared hosting ले के फँस चूका हूँ !

    Reply

Leave a Comment