© Copyright Material क्या है? इससे कैसे बचे ओर इससे कैसे बचे

8

Copyright : Copyrighted Material क्या है ? (What is Copyright Material in Hindi) ओर इसमें क्या होता है। अगर Copyright Material का इस्तमाल करे तो क्या नुक़सान हो सकते है ओर कैसे Copyright से बचे उसकी पूरी जानकारी इस्स article में मिलने वाली है।

Copyright से संबंदित जितने भी आपके सबल है सबका जबाब आपको नीचे मिलने वाला है, उसके आलवा भी कोई क्वेस्चन हो तो आप कॉमेंट करके पूछ सकते है।

तो इस आर्टिकल को आखिर तक जरुर पढियेगा क्युकी copyright material के बारे में जानना बहोत ज्यादा जरुरी है अगर आप content creator हो तो।

© Copyright Material क्या है? इससे कैसे बचे ओर इससे कैसे बचे - tegory%

Copyright Material क्या है?

Copyright material मतलब होता है के जो भी Item है वो किसी ओर का है वो Image, Video, Audio, Text कुछ भी हो सकता है। ओर अगर किसी का कांटेंट कोई कापी करके उसे करता है तो वो Copyrighted Content कहलाता है।

अगर आप यूटूब पर विडीओ अपलोड करते है तो आपको पता होगा, जेसे ही हम किसी के विडीओ को कापी(Download) करके अपलोड करते है हमारे चैनल पर कापीरायट आ जाता है। Q की यूटूब को पता चल जाता है की वो विडीओ किसी ओर का है जो हमने कापी करके अपलोड किया है।

जिस तरह यूटूब को पता चल जाता है तिख उससी तरह गूगल ओर बाक़ी सर्च एंजिन भी पता कर लेते है की जो भी कांटेंट है वो किसका है ओर किसने कापी किया है।

Copyright Material इस्तेमाल करने के नुक्सान

अगर आप सोच रहे है ब्लॉग में ख़ुद से लिख कर इतनी मेहनत करने से क्या फ़ायदा दूसरे के ब्लॉग से कापी करके अपने ब्लॉग में डाल देते है, तो कापी करने के क्या फ़ायदे ओर नुक़सान है वो आप ज़रूर जान लीजिएगा। क्यू की अगर आप कही से copyright कांटेंट को कापी करके उसे करते है तो इससे आपके ब्लॉग की रैंक डाउन हो सकती है ओर ब्लॉग पर DMCA भी आ सकता है।।

सिम्पल सबदो में कहु तो अगर आप कही से कुछ कापी करके उसे करते है तो ना उसको गूगल सर्च में दिखाएगा ओर अगर कोई यूज़र आपकी साइट पर ग़लती से आ भी जाता है तो भी जेसे ही उसको पता चला की Original कांटेंट उसस साइट का है वो भी आना बंद कर देगा।

अगर आपने कापी करने कांटेंट डाला है तो आप पैसे कमाने के लिए अपने ब्लॉग में Adsense भी उसे नहीं कर सकते, क्यू की Adsense पॉलिसी में साफ़ साफ़ बताया है की कुछ भी कापीरायट कांटेंट नहीं होना छाइए।

मान लीजिए आपने किसी कम्पनी का कांटेंट कापी किया है जिन्होंने DMCA रेजिस्टर कर रखा है तो वो आपके ब्लॉग पर DMCA रिपोर्ट कर सकते है, जिससे आपका ब्लॉग सर्च में Ban या डिलीट भी हो सकता है।

अपने कांटेंट को कापी होने से कैसे बचाए

अगर आप इंटेनेत पर कुछ डाल रहे है तो उसको डिरेक्ट कापी करने से अचना तो भूत मुसकिल है, पर आप अपने कांटेंट को DMCA रेजिस्टर करके ये प्रूफ़ अपने पास रख सकते है की वो कांटेंट आपने सबसे पहले शेर किया था, इसलिए वो आपका है।

अगर कोई यूटूब पर आपका विडीओ कापी करता है तो आप विडीओ से डिरेक्ट कापीरायट सेंड कर सकते है, पर अगर आपको ब्लॉग पर कापीरायट देना है तो आपको DMCA का सहारा लेना होगा।

अपने ब्लॉग को DMCA प्रटेक्शन कैसे करे उसकी जानकारी आपको यह मिल जाएगी, अगर आप अरिजिनल कांटेंट लिखते है तो ज़रूर यह रेजिस्टर करे।

वेसे अगर कापी करने वाले लोगों को बात करे तो हिंदी मैं हेल्प का कांटेंट भी बहुत लोग कापी करते है, पर उसपर इसलिए ऐक्शन नहीं लिया जाता क्या की जब उनको कुछ रिज़ल्ट नहीं मिलता तो ऑटमैटिक वो ब्लॉगिंग छोड़ देते है कुछ टाइम में।

ब्लॉगिंग लोग क्यू छोड़ देते है, उसके कापी करना दूसरे लोगों की सबसे प्रकुख कारण है।

Copyright Material से कैसे बचे?

अगर आपको किसी भी तरह के copyright से बचना है तो उसका वसस एक यही तारिक है की आप कही से भी कुछ भी कापी ना करे ओर जो भी Audio, Video, Image या content है वो ख़ुद से बनाए।

पर अब बात आती है, हम ब्लॉग में image यूज़ करते है ओर यूटूब विडीओ में sound इफ़ेक्ट की ज़रूरत पड़ती है तो उसका क्या करे। तो उसका सिम्पल सूलतीयों ये है की Royalty फ़्री मटीरीयल को उसे किया जाए।।

Royalty Free क्या होता है

Royalty Free वो मटीरीयल होता है जिसमें जो उसका ओनर है उन्होंने ये पर्मिशन दी हुई है की कोई भी उसके कांटेंट को उसे कर सकते है, उससे उनको कोई परेसनी नहीं है।

आपको इंटर्नेट पर बहुत सारे Royalty फ़्री इमिज के वेब्सायट भी मिल जायेंगे जहाँ से आप फ़्री में इमिज डाउनलोड करके उसे इस्तमाल कर सकते है।

अगर आप गूगल से फ़्री इमिज डाउनलोड करना चाहते है तो उसका तारिक आपको यह मिल जाएगा, जिसकी मदद से आप गूगल से Copyright फ़्री इमिज डाउनलोड कर सकते है।

पोस्ट कापीरायट है के नहीं कैसे पता करे

अगर आपने ख़ुद से पोस्ट को लिखा है तो फिर तो उसमें कुछ सक है ही नहीं की वो कापीरायट होगा, पर अगर आपको किसी ने पोस्ट लिख का सेंड किया है या कोई आपके ब्लॉग पर Guest पोस्ट कर रहा है तो उसको चेक करना भूत ज़रूरी है की ये कही से कापी किया हुआ तो नहीं है।

अगर किसी पोस्ट का पता करना है की वो कापी है के नहीं , उसका एक तारिक तो ये की आप उसके paragraph को डिरेक्ट गूगल में सर्च करके देखे कोई साइट आ रही है क्या सर्च में ।।

Copy Article का पता करने के लिए ऑनलाइन बहुत से plagiarism Tools भी है, जिनकी मदद से हम पता कर सकते है की आर्डिकल कितना कापी है।

ये तो टूल है इसमें जो आर्डिकल है उसको डाल कर सर्च करना है उसके बाद वो इंटर्नेट पर उसको सर्च करने बताता है की जितना उसमें से पहले से इंटर्नेट पर है।

अगर आप Plagiarism टूल का इस्तमाल करते है तो हो सकता है आपके लिखे हुए article को भी ये कापी बताए, क्यों की जो सब्द (keyword) आपने इस्तमाल किए है उसमें से कुछ पहले से भी इंटर्नेट पर होगे, पर उससे कोई दिक्कत नहीं वस पूरा कापी नहीं होनी चाइए। आप बढ़िया कांटेंट लिखे जो Google ओर यूज़र को पसंद आए

आखरी शब्द

में उम्मीद करता हूँ की आपको ये आर्टिकल जरुर पसंद आया होगा और आप समझ गये होगे की Copyright Material क्या है (What is Copyright Material in Hindi) और आप copyright material से कैसे बच सकते है या किस तरह से Copyright फ़्री मटेरीयल इस्तमाल कर सकते है।

एक कांटेंट क्रीएटर के नाते आपको कापीरायट की अछी जानकारी होना भूत ज़रूरी है तो अगर आपको अभी भी कोई कन्फ़्यूज़न है तो आप कॉमेंट करके ज़रूर पूछे।

तो आज के लिए बस इतना ही अगर आपको blogging या technology से रिलेटेड कुछ भी सवाल पूछना हो तो निचे कमेंट करके हमें जरुर बताना में आपको answer के साथ रिप्लाई जरुर दिया जाएगा, तो मिलते है फिर से अपने नेक्स्ट आर्टिकल में तब तक लिए।

इंटर्नेट पर कुछ ना कुछ सिखते रहिए!

8 COMMENTS

  1. bhai app kabhi meri comment nahi dete

LEAVE A REPLY

Aapko Post kesi lagi ya usse sambandit koi bhi sabal ho to aap comment me bataye. Please Dhiyan rakhe Comments ko manually Check karke Approve kiya jayega Comment Policy ke according. Name Field me Keyword ka use naa kare, warna aapka comment SPAM mana jayega.

Apna Comment yaha likhe.
Please Apna Naam Dale